Thursday, June 20, 2013

बासी कढ़ी उबाल खा गयी ..

अडवाणी की उलटी बानी
बी जे पी  में झकझक ठानी
पच्चासी की उम्र में पी एम
कुर्सी--जरा उछाल खा गयी --

अरे बुढ़ापा आया लाला
जपिए राम नाम की माला
मोदी के दिन हैं,बढ़ने दो
क्यों बेढंगी चाल भा  गयी-- बासी कढ़ी उबाल खा गयी

6 comments:

  1. बिलकुल खा गई ...
    अभी तो बहुत दम है अडवानी जी में .. हा हा ...

    ReplyDelete
  2. बहुत उत्कृष्ट अभिव्यक्ति...

    ReplyDelete
  3. ek lambe gap ke baad aapne post kiya ! sundar..shubhkamnayen !

    ReplyDelete